बुधवार, 23 फ़रवरी 2011

बरसाती मेंढक की पीड़ा

अभी कुछ दिनों से काले धन पर काफी हो हल्ला मचा हुआ है..आज दिग्विजय सिंह का बयान सुना की बाबा रामदेव अपने आश्रम की संपत्ति घोषित करें...
दिग्विजय सिंह जैसे लोगों की उपमा सिर्फ दो चीजों से दी जा सकती है.
एक तो बरसाती मेंढक जो जब देखो टर्र-टर्र करते रहतें है...क्या ये किसी बड़े मेंढक या मेंढकी का ध्यान खीचने के लिए होता है??..अरे भाई बाबा तो १७ साल से ट्रस्ट चला रहें है अभी आप को याद क्यों आया.. क्यूकी बाबा ने काले धन के खिलाफ अभियान शुरू किया है जिसको जन समर्थन भी मिल रहा है...
अब दिग्विजय जी की पीड़ा ये है की बाबा न न कहते हुए भी काले धन के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी के साथ है.कहने की जरुरत नहीं है जिस परिवार ने भारत पर ४० सालों तक राज किया है उसका भी उन बैंको और धन में बड़ा हिस्सा होगा..तो क्या आप के युवराजो और महाराजों का नाम सामने आये उससे पहले बाबा की बलि ले लो..


और एक बात और बाबा का जनाधार बढ़ता देख कांग्रेस को अपना वोट बैंक खिसकने का डर सता रहा है..डर ये भी है की ये वोट कांग्रेस से छिटककर बाबा को तो जाने से रहे क्यूकी बाबा अभी उतने बड़े पैमाने पर भारतीय राजनीति में आये नहीं है,तो कही न कही ये वोट भारतीय जनता पार्टी को जा सकते है..फिर युवराज के महाराज बनने के सपने का क्या होगा?? ये सब देखते हुए बाबा एक आसन शिकार मिले और कुछ बिके हुए मीडिया वालों का भी परदे के पीछे से समर्थन है दिग्विजय जी को..अरे भाई सरकारी खजाने से जन कल्याणकारी योजनाओं का प्रचार प्रसार भी तो कांग्रेस के यही पेटेंट चैनल करने वालें है कही वो कई सौ करोड़ का सौदा न चला जाए .. अब सन्यासी तो प्रचार के लिए करोड़ लुटायेगा नहीं..
दिग्विजय जी २००१ में आय कर के एक छापे में शराब की हेराफेरी में १०० करोड़ रूपये लेने का आरोप लगा था तब आप मुख्यमंत्री थे ..कई जमीन घोटालों में नाम आया है..और शायद कई ऍफ़ आई आर भी हैं...
चलो बाबा के नाम पे ये सब नहीं है तो फिर भी बाबा बुरा है दिग्विजय जी १० जनपथ आप का,सरकार आप की और
सी बी आई भी आप की..क्यूँ नहीं बाबा को जेल में डालते हो..वैसे भी भगवा पहनने वालों से आप का छत्तीस का आंकड़ा पहले से रहा है.. आये दिन जब आप देखते है की किसी खबरिया चैनेल पर आप नहीं दिख रहें है तो रटे रटाये तरीके से या तो हिन्दू आतंकवाद या भगवा आतंकवाद नहीं तो राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ को कोस कर आप अपनी जगह बना लेते है इस सेकुलर मीडिया में.
और अगर आप बरसाती मेंढक नहीं हो तो शायद आप दौरे की बीमारी का शिकार हो रह रह कर आप को भगवा आतंकवाद,हिन्दू आतंकवाद,राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ संघ के दौरे आतें है...कृपया इलाज कराएँ. अपने पूर्व राजनैतिक पदों की गरिमा रखते हुए अच्छा हो की आप देश हित में कुछ करें न की दिल्ली में कत्ले आम करने वालों या बम फोड़ने वालों से बाटला हॉउस और आजमगढ़ जा के संवेदना दिखाएँ.. एक भारतीय होने के नाते मेरे आप से अपील है कृपया तुस्टीकरण से बहार आयें और १० जनपथ तक भी ये बात पहुचाएं की ८ करोड़ की जनसँख्या वाला मिस्र जग सकता है तो हम १३० करोड़ हो चुके है हिंदुस्तान की एक अंगडाई भी आप के और १० जनपथ के राजनैतिक भविष्य पर पूर्ण विराम लगाने में समर्थ है..

जय हिन्दुस्थान

11 टिप्‍पणियां:

  1. Digvijay singh is christian with hindu name like ambika soni,manishankar ayyar ,raj shekhar reddy

    उत्तर देंहटाएं
  2. अगर हमारी लड़ाई एक है तब मिल कर चलना ही सही होगा ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. यहाँ सब अपना अपना राग अलापते हैं ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत अच्छी विवेचना की है तुमने...
    सोये हुए भारत को जागना ही होगा...एक अच्छी प्रस्तुती मानी जायेगी ये..

    उत्तर देंहटाएं
  5. दिग्गी राजा बरसाती मेंढक.
    सच लिखा है आपने.
    पर शायद मेंढक का अपमान कर दिया आपने.
    सलाम.

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपका यह कथन अच्छा लगा कि

    " अपने पूर्व राजनैतिक पदों की गरिमा रखते हुए अच्छा हो की आप देश हित में कुछ करें "

    देश हित में किये जाने वाले कर्म ही सार्थक हैं.

    आपका मेरे ब्लॉग 'मनसा वाचा कर्मणा'पर स्वागत है.

    उत्तर देंहटाएं
  7. धन्यवाद आप सभी का आलेख की विषयवस्तु समझने के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  8. कई साल पहले किसी कार्यक्रम, शायद ’आपकी अदालत’ में बाबा रामदेव का इंटरव्यू सुना था। पूछा गया कि सरकार की तरफ़ से आपको क्या सहयोग मिला है? इनका जवाब था, "राजनेताओं और MNCs के बारे में इतना स्पष्ट कहता हूँ, उसके बावजूद अभी तक मैं आजाद घूम रहा हूँ, यह भी एक सहयोग ही है।"
    बाबा के वर्तमान अनशन से बहुत ज्यादा आशान्वित मैं भी नहीं, क्योंकि नतीजे एक दिन में नहीं निकलते लेकिन लोगों की एक भगवाधारी द्वारा की जा रही पहल पर जो छटपटाहट देखने को मिल रही है, हैरतअंगेज है।

    उत्तर देंहटाएं

आप को ये लेख कैसा लगा अपने विचार यहाँ लिखे..